वाराणसी में शनि‍वार को 182 नए कोरोना मरीज मिले, एक की हुई मौत

वाराणसी। जिले में शुक्रवार को सायं से शनिवार को पूर्वाहन तक बीएचयू लैब से प्राप्त 421 रिपोर्ट में से 117 तथा सायं तक प्राप्त 2338 रिपोर्ट में से 65 सहित कुल प्राप्त 2759 रिपोर्ट में से 182 नये कोरोना संक्रमित मरीज पाये गये। वही कोरोना का इलाज करा रहे 32 मरीजों का सैंपल रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें स्वस्थ घोषित कर घरों के लिए डिस्चार्ज किया गया। जबकि खोजवा बाजार चित्तूपुर महमूरगंज निवासी 70 वर्षीय एक मरीज की मृत्यु हो गई है।

इस प्रकार वाराणसी जनपद में कुल कोरोना मरीजों की संख्या 2949 हो गया है। जबकि 1135 मरीज स्वस्थ होकर अपने अपने घरों के लिए डिस्चार्ज हो चुके हैं। वर्तमान में एक्टिव कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1755 है। जबकि 59 लोगों की अब तक मृत्यु हो चुकी है।

आज संक्रमित पाए गए मरीज क्रमशः अमरावती कॉलोनी सुंदरपुर, कृष्णापुरी कॉलोनी सिगरा, सराय नंदन खोजवा, आरपीएफ बैरक ककरमत्ता, खोजवा बाजार छित्तूपुर महमूरगंज, अमलया लहरतारा, आईजी ऑफिस, एसएसपी कैम्प हाउस, शिवपुरवा, भोजूबीर, चौधरी जनरल स्टोर न्यू कॉलोनी ककरमत्ता, साकेत नगर, करिया घाट, विवेक नगर कॉलोनी सुसुवाही, चित्तूपुर, दारानगर, संकुल धारा पोखरा खोजवा, जल्लापुर जंसा, राजातालाब, कृष नगर सामनेघाट लंका, चीफ प्रॉक्टर ऑफिस बीएचयू, नरिया प्रभावती भवन, चौक, नेवादा सुंदरपुर, रत्नेश्वर, निरवा, हीरापुरा, डिघिया बड़ी बाजार जेतपुरा, मदर टेरेसा आश्रम शिवाला घाट, पीएससी पिंडरा धरमालपुर बड़ागांव, मल्हाद, जखनी, शिवपुर, पहड़िया, दुर्गाकुंड, अर्दली बाजार, कोतवाली, रोहनिया, चौबेपुर, दशाश्वमेध, कैंट, चित्तूपुर, सारनाथ, रामनगर, मंडुवाडीह, लालपुर, टकटकपुर, विश्वनाथपुर, ऐडे, नेपाली बाग शिवपुर, लालपुर पांडेपुर, सिगरा, एचबीसीएच, राजेंद्र विहार कॉलोनी, चदूआ छित्तूपुर, संसार नर्सरी के पास मंडुवाडीह सुल्तानपुर, करधना, फूलपुर, तहसील पिंडरा, मंझवा, सोनारपुर, जमानिया डिस्ट्रिक्ट गाजीपुर, सिकरौल, पूरा रघुनाथपुर, गंगापुर, मेहंदी गंज, टोंडरपुर राजातालाब, आवास विकास कॉलोनी दौलतपुर पांडेपुर, सुल्तानपुर रामनगर, शिवपुरवा महमूरगंज छित्तूपुर, शिवाजी नगर कॉलोनी रानीपुर छित्तूपुर, गीता भवन आनंद नगर कंदवा चितईपुर, मीराबाग, छित्तूपुर, महमूरगंज, पांडेपुर, हरि नगर कॉलोनी चंदुवा छित्तूपुर, सिंडिकेट बैंक, आशुतोष नगर सराय नंदन छित्तूपुर, गोकुल नगर कॉलोनी महमूरगंज, कृष्णापुरी कॉलोनी सिगरा, महावीर विहार रथयात्रा, नवापुरा, परमानंदपुर शिवपुर, सब्जी मंडी कमच्छा भेलूपुर, तरना थाना शिवपुर, एस के यादव महमूरगंज, भोगावीर लंका, कांशीराम आवास शिवपुर, माधोपुर एएनओ पुलिस, शाह भवन दुर्गाकुंड रोड महमूरगंज छित्तूपुर, मिसिर पोखरा, गैलेक्सी हॉस्पिटल, हरतीरथ विशेश्वरगंज, सुंदरपुर, बैंक कॉलोनी महमूरगंज, गढवा, वार्ड नंबर 6 सदर बाजार थाना कैंट, सेंट्रल जेल, रॉयल रीजेंसी महमूरगंज, कृष्णापुरी कॉलोनी सिगरा, अमौत, एडिशनल पीएचसी दादूपुर, हनुमान घाट भेलूपुर, लंका थाना, भदैनी नगवा, वरुणा पुल, ताराधाम कॉलोनी तुलसीपुर तथा अंधरापुल सदर बाजार के रहने वाले हैं। यह सभी हॉटस्पॉट एवं कंटेनमेंट जोन बनेंगे।

त्योहारों के मद्देनज़र वाराणसी पुलिस ने चलाया सघन चेकिंग अभियान, कैंट रेलवे स्टेशन पहुंचे सीओ चेतगंज

वाराणसी। बकरीद, श्रीराम जन्मभूमि पूजन, रक्षाबंधन और जन्माष्टमी को लेकर पूरे प्रदेश में अलर्ट है। श्रीराम जन्म भूमि पूजन पर आतंकी साये की खुफिया जानकारी के बाद पूरे प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया गया  है। इसी क्रम में आज वाराणसी पुलिस भी मुस्तैद दिखी।

जनपद के सभी प्रमुख चौराहों पर चेकिंग की गयी और संदिग्ध वाहनों की तलाशी ली गयी। इसके साथ ही क्षेत्राधिकारी चेतगंज के नेतृत्व में सिगरा थाने की पुलिस ने कैंट रोडवेज से लेकर इंग्लिशिया लाइन तक वृहद चेकिंग अभियान चलाया।

इसके अलावा वाराणसी जंक्शन के प्लेटफॉर्म्स पर भी जीआरपी के सहयोग से चेकिंग अभियान चलाया और सामानों की जांच की।

इस सम्बन्ध में सीओ अनिल कुमार ने बताया कि त्यौहार और श्रीराम जन्म भूमि पूजन के मद्देनज़र कैंट रेलवे स्टेशन पर सिगरा थाना, जीआरपी, आरपीएफ और बीडीएस टीम ने सघन चेकिंग अभियान चलाया है। संदिग्ध व्यक्तियों और संदिग्ध वाहनों को रोक कर चेकिंग और पूछताछ की गयी है। अभी तक कोई भी संदिग्ध सामान या संदिग्ध व्यक्ति नहीं पकड़ा गया है।

सीओ अनिल कुमार ने बताया कि रेलवे स्टेशन पर सघन चेकिंग अभियान चलाया गया और यात्रियों से पूछताछ भी की गयी है। इसके अलावा शहर के प्रमुख चौराहों पर वाराणसी पुलिस मुस्तैद दिखी। वाहनों की ज़बरदस्त चेकिंग भी की गयी।

देखिये तस्वीरें:

द्वेष से पहले देश को रखें, लोक सम्पत्ति की सुरक्षा करे : सुधा सिंह

Keep the country before malice, protect public property Sudha Singh

वाराणसी। कामन सर्विस सेण्टर (CSC) के माध्यम से शुक्रवार को विकास खण्ड आराजीलाइन डिजिटल विलेज गौरा में डिपार्टमेंट आफ जस्टिस द्वारा संचालित देश के नागरिको को उनके मूल अधिकारों व कर्तव्यो से परिचित कराने के लिए कार्यक्रम का आयोजन हुआ। कार्यक्रमों की कड़ी में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देश पर आयोजित कार्यक्रम में ग्रामीणों को राष्ट्र की सम्पत्ति की जिम्मेदारी, उनके मूल कर्तव्यों से सम्बन्धित अनुच्छेद 51-A(i) लोक सम्पत्ति की सुरक्षा के विषय में जानकारी दी गयी।

इस दौरान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सुधा सिंह द्वारा बताया गया कि हर माह इस तरह के जागरूकता कार्यक्रम करने की योजना है, जिसका यथासंभव महामारी को देखते हुये अधिक भीड़भाड़ न जुटा कर, लॉकडाउन के नियमो का पालन करते हुये कार्यकम आयोजित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि आज ग्रामीणों को बताया गया है कि द्वेष से पहले देश को रखें ताकि लोक संपत्ति की रक्षा की जा सके।

इस कार्यक्रम के मुख्य विषय “द्वेष से पहले देश को रखें, राष्ट्रीय सम्पत्ति की रक्षा करें” इस मूल कर्तव्य पर ग्रामवासियो को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, द्वारा नामित रिसोर्सपर्सन पीएलवी द्वारा सार्वजनिक सम्पत्ति को ऐसे देखने की अपील की गई मानो वो स्वयं की निजी सम्पत्ति हो। इसका आशय यह नही कि उस उस प्रापर्टी को आप घर ले जायें, बल्कि इसका मतलब यह है कि जो आप अपनी सम्पत्ति की देख भाल करते है। उसी तरह आपको राष्ट्र की सम्पत्ति की रक्षा करनी चाहिए।

कार्यक्रम में सीएससी संचालक सौरभ सिंह एवं जिला प्रबन्धक अरविन्द मौर्य, डिटिजल विलेज के वीएलइ संजय कुमार मौर्य, पूनम देवी, अभय कुमार राय, गंजू शर्मा तथा प्राथमिक विद्यालय के प्रधान अध्यापिका रजनी एवं समस्त अध्यापकगण तथा ग्राम प्रधान वकील सहित क्षेत्रीय गणमान्य महिला एवं पुरूष उपस्थित रहें।

जनपद के कारागारों में हुआ वर्चुअल विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन

Virtual Legal Literacy Camp organized in the prisons of the district

वाराणसी। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सुधा सिंह द्वारा केन्द्रीय कारागार व जिला कारागार में शुक्रवार को वर्चुअल विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। उन्होंने शिविर में बन्दियों को उनके विधिक अधिकारो से अवगत कराया गया एवं उनकी समस्याओं को सुनते हुये नियमानुसार विधिक निराकरण हेतु आश्वस्त किया।

कोविड 19 की सुरक्षा हेतु बन्दियों एवं जेल प्राधिकारी से सेनेटाईजेशन, मास्क व अन्य बचाव के उपाय के संबंध में जानकारी प्राप्त की गयी एवं आगे के लिए भी इस महामारी से बचाव हेतु सभी को यथोचित उपाय करने हेतु निर्देशित किया गया।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव सुधा सिंह द्वारा कोविड 19 महामारी से बचाव हेतु SMS अर्थात सोशल डिस्टेसिंग, मास्क एव सेनेटाईजेशन का पूरा पालन करने हेतु जागरूक किया। बन्दियों को अपनी समस्या हेतु जेल में स्थापित लीगल एड क्लीनिक के माध्यम से सहायता प्राप्त करने हेतु जागरूक किया।

सरकारी एवं अर्धसरकारी भवनों पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली होगी विकसित, DM ने दिए निर्देश

वाराणसी। भूगर्भ जल सप्ताह के समापन अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में गिरते भू-जल स्तर एवं भू-जल संकट को देखते हुए जल संचयन एवं भू-जल रिचार्ज हेतु शासकीय एवं अर्द्धशासकीय भवनों पर रेन वाटर हार्वेस्टिंग की स्थापना पर विशेष जोर दिया था। इसके बाद जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने जनपद के सभी सरकारी और अर्धसरकारी कार्यालयों के अध्यक्षों को रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली के सम्बन्ध में निर्देशित किया है।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने कार्यालयाध्यक्षों को निर्देशित किया है कि शासकीय एवं अर्द्धशासकीय भवनों में प्राथमिकता के आधार पर चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 में रूफ वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली की स्थापना कराएं। इसके अलावा इस कार्य के लिए बजट की मांग जिलाधिकारी के माध्यम से अपने विभागाध्यक्ष को भेजें।

जिलाधिकारी ने जनपद के समस्त कार्यालयाध्यक्षों जिनके कार्यालय एवं आवासीय परिसर आदि सरकारी एवं अर्द्धसरकारी भवन है, वहां इस वित्तीय वर्ष में रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली स्थापना के निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी का आदेश आज से ही होगा प्रभावी, 5 बजे तक ही खुलेंगी दुकानें

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने गुरुवार की शाम जनपद में प्रभावी दंड प्रक्रिया संहिता 144, महामारी अधिनियम 1897 और आपदा एक्ट 2005 के सम्बन्ध में जारी किये गए पूर्व के आदेश में संशोधन किया था। यह संशोधन जनता के फीडबैक के बाद किया गया था। इसके बाद जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने जनपद में जारी सोमवार की पूर्ण बंदी को वापस लेते हुए सिर्फ शनिवार और रविवार को बंदी का आदेश दिया है।

इसके अलावा जनपद में दुकानों को सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक ही खुलने की अनुमति दी है। यह आदेश शुक्रवार यानी आज से ही प्रभावी होगा। सभी दुकाने आज शाम 5 बजे बंद हो जाएँगी और सड़कों शाम 6 बजे के बाद वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबन्ध लगा दिया जाएगा।

दो दिवसीय साप्ताहिक बंदी में पड़ने वाले बकरीद पर्व पर जिलाधिकारी ने पूर्व में ईद की नमाज़ के लिए जारी हुए आदेश को ही प्रभावी रखा है। इस दौरान शनिवार को त्यौहार होने पर सभी आवश्यक चीज़ों को खोलने की अनुमति दी है साथ ही पशु क्रय विक्रय की भी छूट दी है।

कोविड 19 के मरीज़ों की मृत्यु पर लगाएं लगाम, मरीज़ों को दिलाएं सटीक इलाज : देवेश चतुर्वेदी

Restrain the death of Covid 19 patients, provide accurate treatment to patients Devesh Chaturvedi

वाराणसी। जनपद में लगातार कोरोना मरीज़ों के इलाज में लापरवाही की बात सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। इन सब के बीच 51 लोगों की अब तक कोरोना के कारण मौत हो चुकी है। ऐसे में कोरोना से हो रही मृत्यु पर लगाम और मरीज़ों को सटीक इलाज मुहैया करवाने को लेकर जिलाधिकारी के कैम्प कार्यालय पर जिलाधिकारी, सीएमओ, एडीएम प्रोटोकॉल और एसीएम फोर्थ सहित जनपद के वरिष्ठ डॉक्टर्स से के साथ अपर मुख्य सचिव एवं नोडल अधिकारी वाराणसी देवेश चतुर्वेदी ने कोविड 19 से सम्बंधित बैठक की।

देवेश चतुर्वेदी ने बताया कि जनपद में कोविड मरीजों की मृत्यु दर पर लगाम लगाने और बिना देर किए सटीक इलाज मुहैया कराने के लिए शासन द्वारा पीजीआई हास्पिटल लखनऊ से दो सदस्यीय विशेषज्ञों की टीम भेजी गई है, जिसमें डॉ रूद्राशीश तथा डा अजमल को भेजा गया है। इनके द्वारा मरीजों के इलाज के तौर-तरीकों की जानकारी की जायेगी। इलाज को बेहतर बनाने के लिए महत्वपूर्ण सुझाव देने के साथ-साथ इलाज में जो चीजें अच्छी होंगी उसे अन्य जगहों पर किया जायेगा। इस सम्बंध में टीम द्वारा आज बीएचयू, दीनदयाल तथा हेरिटेज हास्पिटल का दौरा किया जायेगा।

इस दौरान नोडल अधिकारी ने जोर देते हुए कहा कि एल 1, एल 2 तथा एल 3 हास्पिटल्स के बीच एक मजबूत समन्वय स्थापित कर कोविड पेशेंट्स का इलाज किया जाय। कोविड का मरीज चिन्हित हो जाने के बाद उसे बिना समय गंवाये हास्पिटल पहुंचाया जाय। हास्पिटल पहुंचने पर मरीज की स्थिति का आंकलन करते हुए उसे किस स्तर से इलाज की जरूरत है इसे डाक्टरों द्वारा तत्काल परीक्षण कर इलाज शुरू किया जाय।

नोडल अधिकारी ने कहा कि विभिन्न स्तर पर मरीज की पहचान करने से लेकर इलाज शुरू कराने तक आपस में टीमों का एक मजबूत को-आर्डिनेशन करने के लिए आपस में बैठकर कोविड 19 के खिलाफ एक सामरिक रणनीति के तहत कार्य करने पर बल दें। बैठक के दौरान कोविड की दवा की उपलब्धता, मूल्य नियंत्रण तथा सुलभ विक्रय पर भी विचार किया गया।

बैठक में जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा, एडीएम प्रोटोकॉल, एसीएम प्रथम, मुख्य चिकित्साधिकारी, हेरिटेज, बीएचयू तथा दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के डॉक्टर्स भी उपस्थित रहे।

Corona Update : वाराणसी में आज सुबह मिले 39 नए कोरोना पॉज़िटिव मरीज़

55 new corona patients found in Varanasi on Monday

वाराणसी। जनपद में वैश्विक महामारी कोरोना के 39 नए पॉज़िटिव मरीज़ शुक्रवार की सुबह मिले हैं । बीएचयू लैब से प्राप्त 239 रिपोर्ट्स में से 39 नए कोरोना मरीज़ पाए गए हैं। इसी के साथ जनपद में कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ों की संख्या 2661 हो गयी है।

गुरुवार शाम 7 बजे से लेकर शुक्रवार दोपहर 11 बजे तक बीएचयू लैब से मिली 239 जांच रिपोर्ट्स में से 39 मरीज़ पॉज़िटिव पाए गए हैं। जनपद में इस समय एक्टिव कोरोना पॉज़िटिव मरीज़ों की संख्या 1536 हो गयी है। अभी तक जनपद में 1074 मरीज़ स्वथ्य होकर अपने घरों को जा चुके हैं। जबकि 51 लोगों की मौत हो चुकी है।

वाराणसी में अभी तक 48704 लोगों का कोविड सैम्पल लिया जा चुका है। इसमें से 2661रिपोर्ट पॉज़िटिव तो 37028 रिपोर्ट निगेटिव आयी है। जनपद में अभी भी 8073 कोरोना जांच रिपोर्ट आनी बाकी है।

फुलवरिया फोर लेन निर्माण की कवायद तेज, ध्वस्तीकरण के लिये पहुंचे अफसर, मकान मालिकों ने किया विरोध

वाराणसी। शिवपुर फुलवरिया फोरलेन मार्ग निकालने के लिए प्रशासन पुरी तैयारी में जुटी है, इसके लिए प्रशासन ने फुलवरिया फोरलेन निर्माण में आने वाले अतिक्रमण किये हुए 55 मकानों का मुल्यांकन पीडब्ल्यूडी द्वारा करवा कर उन सभी मकान मालिकों को उसका मुआवजा भी दिया जा रहा है। रास्ते में पड़ने वाले मकानों के ध्वस्तिकरण की कार्रवाई के लिए जब गुरुवार को अमला पहुंचा तो इलाके में तनाव और विरोध के स्वर भी उठने लगे।

इस संबंध में एसडीएम सदर महेंद्र कुमार श्रिवास्तव ने बताया कि मुआवजे की बात और सहमती के लिए अपर जिलाधिकारी से तीन राउंड की वार्ता भी हो चुकी है, जिसमें मुआवजा सूची भी लोगों को पढ़ कर सुनाई जा चुकी है और लोगों को इसकी कॉपी भी दी जा चुकी है।

इसके बाद पीडब्ल्यूडी ने हमें एक पत्र लिखा था कि हमे यहां कब्जा दिलाने के लिए पुलिस की व्वस्था करा दी जाये। इसी के संदर्भ में आज हमलोग यहां पहुंचे हैं। मकान मालिकों के विरोध पर एसडीएम सदर ने कहा कि मुआवजा पूरी तरह से तैयार है और सारी कानूनी कार्रवाई करने के बाद ही आगे का कोई भी कार्य किया जाता है।

एसडीएम सदर ने बताया कि यह जमीन डिफेंस की है इसलिए जमीन का मुआवजा नहीं दिया जा सकता मकान मालिकों को सिर्फ मकान की जो लागत है उसका मुल्यांकन करा कर वो दिया जा रहा है और जिन लोगों के पास इसके अलावा कोई मकान रहने को नहीं है उन्हें मकान भी उपलब्ध करा दिया जाएगा।

 

वहीं इस संबंध में स्थानीय मकान मालिकों का कहना है कि हम लोगों ने फोरलेन निर्माण पर पहले से ही हाईकोर्ट से स्टे लिया है और पीडब्ल्यूडी द्वारा जारी किया गया मुआवजा मंजूर नहीं है क्योंकि आज के समय में दो ढाई लाख रुपये में कहीं भी मकान या जमीन नहीं मिल सकता। आवास देने के बात पर लोगों ने कहा कि प्रशासन बिना रजिस्ट्री के ही नये जगह शिफ्ट करेगी। शिफ्ट करने के 1 2 महीने बाद अगर मकान खाली करवा दिया गया तो हम कहा जाएंगे।

फोरलेन निर्माण का विरोध कर रहे मकान मालिकों का कहना है कि हमारे पास इन मकानों के खतौनी और सभी कानूनी कागजात हैं। जब तक हाईकोर्ट का फैसला नहीं आ जाता हम मकान खाली नहीं करेंगे। फिलहाल प्रशासन ने लोगों को घर खाली करने के लिए दो दिन का समय दिया है।

जिला जज ने दिया निर्देश, अनावश्यक न्यायालय परिसर में घूमने वालों पर पुलिस की हो पैनी नजर

वाराणसी। जिला जज उमेश चन्द्र शर्मा ने गुरुवार को जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक संग न्यायालय परिसर स्थित सभाकक्ष में मानिटरिंग सेल की बैठक की। बैठक में कोविड 19 को देखते हुए अनावश्यक न्यायलय परिसर में प्रवेश करने वालों पर, कचहरी परिसर में ड्यूटी पर तैनात सुरक्षा बलों को पैनी नजर रखने और समय-समय पर औचक निरीक्षण के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को निर्देशित किया गया।

इसके अतिरिक्त न्याय विभाग की विभिन्न विभागीय समस्याओं पर विचार-विमर्श किया गया। बैठक के दौरान उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम द्वारा न्यायालय परिसर में निर्माणाधीन बहुमंजिला इमारत को अतिशीघ्र पूरा करा कर न्याय विभाग को हस्तांतरित किये जाने की बात कही गई।

बैठक के पश्चात् जिला जज ने जिलाधिकारी संग भवन का निरीक्षण भी किया। इस दौरान परिसर की सुरक्षा व्यवस्था का भी जायज़ा लिया गया और परिसर की दीवारों के बाहर से सटे हुए अवैध अतिक्रमण को परिसर की सुरक्षा व्यवस्था के लिए खतरा मानते हुए हटाये जाने पर जिला जज द्वारा जिलाधिकारी का ध्यानाकृष्ट कराया गया।