एमएलए लापता मामले में कांग्रेसियों पर दर्ज हुआ मुकदमा तो SSP कार्यालय पहुंचे अजय राय

Ajay Rai arrives at SSP office when case filed against Congressmen in MLA missing case (3)

वाराणसी। जिला कांग्रेस कमेटी (अनुसूचित जाति ) के जिलाध्यक्ष राजीव कुमार के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पिंडरा विधानसभा के विधायक डॉ अवधेश सिंह की गुमशुदगी से सम्बंधित पोस्टर जारी करते हुए थाना फूलपुर पर एक प्रार्थना पत्र दिया गया था। इस प्रार्थना पत्र के देने के बाद थानाध्यक्ष फूलपुर और भाजपा कार्यकार्ताओं के दिए गए शिकायती पत्र पर जिला कांग्रेस कमेटी (अनुसूचित जाति ) जिलाध्यक्ष और कांग्रेस कार्यकार्ताओं पर मुकदमा दर्ज किया गया है।

इस मुकदमे से क्षुब्ध कांग्रेस के पूर्व विधायक अजय राय, कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेश्वर पटेल, कांग्रेस महानगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे ने एसएसपी अमित पाठक से मुलाकात की और उन्हें इस सम्बन्ध में एक प्रार्थना पत्र देकर उक्त मुकदमे की जांच कर कांग्रेस कार्यकार्ताओं का उत्पीड़न रोकने की मांग की।

इस सम्बन्ध में पूर्व पिंडरा विधायक अजय राय ने कहा कि वाराणसी की पिंडरा विधानसभा के मौजूदा भाजपा विधायक डॉ अवधेश सिंह कोरोना काल के दौरान लगातार विधान सभा क्षेत्र में अनुपस्थित दिखे, जिससे आम मतदाताओं और क्षेत्र की जनता में निराशा व्याप्त है, जनता जब उनके आवास पर पहुँच रही समस्या लेकर तो उन्हें टरकाया जा रहा है।

अजय राय ने बताया कि ऐसे में जिला कांग्रेस कमेटी (अनुसूचित जाति ) के जिलाध्यक्ष राजीव कुमार, उमाशंकर सिंह, विघ्नेश्वरानन्द उपाध्याय, राम सनेही पांडेय, आननद सिंह, रमेश पटेल ने फूलपुर थाने में कुछ दिन पूर्व विधायक महोदय की गुमशुदगी से सम्बंधित एक प्रार्थना पत्र दिया था। इस प्रार्थना पत्र पर थाना फूलपुर ने कोई रिपोर्ट नहीं दर्ज की।

पूर्व विधायक अजय राय ने आरोप लगाते हुए कहा कि रिपोर्ट ना दर्ज कर सत्ता के दबाव में इन्स्पेक्टर फूलपुर की तहरीर पर एवं भाजपा संगठन से जुड़े पदाधिकारियों के प्रार्थना पत्र पर उक्त कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर मुकदमा पंजीकृत कराया है जो कि निन्दनीय है।

पूर्व विधायक ने इस सम्बन्ध में आज एसएसपी अमित पाठक से मुलकात की और उन्हें पूरे मामले से अवगत कराया। अजय राय ने कहा कीं हमने एसएसपी महोदय से मांग की है कि वो मामले की जांच कर लें और जांच के बाद इन दोनों मुकदमों को वापस ले लें।

सपा की नीतियों को आमजन तक पहुंचाने में आचार्य शंकर बिंद का योगदान याद किया जाएगा- शालिनी यादव

वाराणसी। गरीब मजदूर व किसानों के हितों की लड़ाई में अग्रणी रहने वाले आचार्य शंकर बिंद ने सपा की आमजन हितकारी नीतियों को जनजन तक पहुंचाया जिसके चलते सेवापुरी में सपा का परचम लहरा पाया। उक्त विचार सेवापुरी विधानसभा के पूरेनंदापुर गांव में बुधवार को सपा के संस्थापक सदस्य आचार्य शंकर बिंद के निधन पर शोक व्यक्त करने पहुंची वाराणसी लोकसभा क्षेत्र की पूर्व सपा प्रत्याशी शालिनी यादव ने व्यक्त किये।

उन्होंने कहा कि हमें आचार्य के व्यक्तित्व व कृतित्व से प्रेरणा लेनी चाहिये। पार्टी का एक अहम मार्गदर्शक नहीं रहा जिससे हम सब मर्माहत हैं। शालिनी यादव ने आचार्य के परिजनों को ढांढस बंधाते हुए कहा कि पूरी पार्टी उनके सुख दुख में साथ खड़ी रहेगी।

इसके पूर्व शालिनी यादव ने सेवापुरी विधानसभा के पुराने समाजवादी पुरोधाओं व नेताओ पूर्व प्रधान सूबेदार यादव, प्रतापपुर ग्राम प्रधान पति सुमन सिंह तथा ग्राम खजूरी निवासी शिवनाथ यादव इत्यादि की तबीयत खराब होने पर इनके आवासों पर जाकर इनका हालचाल लिया और कहा कि इन लोगों ने पार्टी व जनता की बहुत मदद की है अब सपा कार्यकर्ता इनकी सेवा व सम्मान करेंगे।

इस अवसर पर प्रादेशिक नेता रामसिंह यादव, वरिष्ठ नेता गोपाल यादव प्रधान शाहाबाद, जिला उपाध्यक्ष व सेवापुरी विधानसभा प्रभारी करीमुल्ला, युवा नेता रोहित सिंह, सचिव डॉ रामराज बिंद, कार्यकारणी सदस्य रमाशंकर यादव, पूर्व महासचिव केशनाथ यादव, सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष विनोद यादव, सलाउद्दीन, रामसुंदर यादव, महेंद्र ढाबा वाले, समाजवादी डिजिटल फोर्स के सरदार अनिल यदुवंशी, आशीष सिंह, जयप्रकाशयादव, मनोज इंजीनियर व रिंकू सिंह इत्यादि लोग उपस्थित रहें।

वाराणसी : जिला पंचायत सदस्य व पूर्व प्रधान दिलीप चौबे बने कांग्रसे के जिला महासचीव

वाराणसी। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचीव प्रियंका गांधी व उत्तर प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के द्वारा आज वाराणसी समेत उत्तर प्रदेश के सभी जिलों में महानगर व जिला कांग्रेस के पदाधिकारियों को घोषित कर दिया गया है, जिसमें वाराणसी में पूर्व जिला पंचायत सदस्य व पूर्व प्रधान दिलीप चौबे को महासचिव की कमान सौंपी गई हैl

इस मौके पर दिलीप चौबे ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी की 2022 में उत्तर प्रदेश में सरकार बनाकर श्रीमती प्रियंका गांधी को मुख्यमंत्री बनाने के बाद उत्तर प्रदेश में सिर्फ आम जन की बात होगीl

महासचिव के अनुमोदन पर प्रदेश महासचिव सतीश चौबे, पूर्व विधायक अजय राय, राजेश मिश्रा जिला अध्यक्ष, राजेश्वर पटेल महानगर अध्यक्ष, राघवेंद्र चौबे समेत लोगों ने बधाई दीl

अनलॉक में कांग्रेस ने फिर शुरू किया ‘कैसे हैं आप’, कार्यक्रम जिलाध्यक्ष पहुंचे गांव 

In the unlock, Congress again started 'How are you', program district head reached village
वाराणसी। प्रदेश में अपनी साख खोती कांग्रेस पार्टी एक बार फिर अपने राजनितिक ढांचे में जान फूकने में लगी हुई है।  ऐसे में फरवरी माह में कांग्रेस ने ‘कैसे हैं आप’ कार्यक्रम शुरू किया था। इसमें कांग्रेस के पदाधिकारी अपने वयोवृद्ध और वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ताओं के घर पहुँच उनका हाल चाल ले रहे थे।  यह कार्यक्रम लॉकडाउन में रुक गया था।
अनलॉक लगने के बाद के बार फिर कांग्रेस ने यह कार्य शुरू कर दिया है।  इसी क्रम में जिलाध्यक्ष राजेश्वर पटेल के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकार्ताओं ने बुधवार को ग्रामीण इलाकों के वृद्ध और अपने ज़माने सशक्त पैठ रखने वाले कांग्रेस कार्यकार्ताओं से मुलाक़ात कर उनसे कुशलक्षेम पूछा।
जिलाध्यक्ष राजेश्वर पटेल के नेतृत्व में कांग्रेसी कार्यकार्ताओं ने जक्खिनी के पूर्व प्रधान उमेश चंद्र शर्मा, जमुनी तिलंगा गांव के वरिष्ठ कांग्रेस नेता सुरेंद्र सिंह तथा महँगाव के पूर्व प्रधान जवाहर लाल वर्मा सहित क्षेत्र के संभ्रांत लोगों के आवास पर जाकर उनका हाल चाल लिया और उन लोगो से आशीर्वाद प्राप्त किया।
इस अवसर पर साथ में संतोष मौर्या, रिंकू सिंह, गोपाल पटेल, एस एन सिंह सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद थे।

केजी टू पीजी के फीस माफी के लिए समाजवादियों ने शहर में लगाएं बैनर, सरकार से की अपील

वाराणसी। कोरोना काल में पिछले चार महीनों से स्कूल कॉलेज बंद होने से छात्रों के पढ़ाई पर तो काफी असर पड़ ही रहा है। छात्रों के अभिभावक भी इससे काफी परेशान हैं, परेशान सिर्फ पढ़ाई रुकने से नहीं बल्कि स्कूल कॉलेज बंद होने के बाद भी कई शिक्षण संस्थाएं वर्तमान सत्र की फीस का भुगतान मांग रही हैं। अभिभावकों और छात्रों के इस परेशानी को देखते हुए अब समाजवादी पार्टी ने वर्तमान सरकार से केजी टू पीजी तक के फीस माफ करने की मांग उठाई है और शहर के मंडुआडीह थाना अंतर्गत चांदपुर चौराहे के पास फीस माफी के बड़े-बड़े बैनर भी लगा दिये हैं।

इस संबंध में समाजवादी छात्रसभा के निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष दिग्विजय सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर समाजवादी छात्रसभा लगातार केजी से पीजी तक की कक्षाओं में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं की सम्पूर्ण फीस माफी के लिए आवाज बुलंद कर रही है। इसी क्रम में समाजवादी छात्रसभा से जुड़े तमाम छात्र-नौजवानों एवं पदाधिकारियों द्वारा उत्तर प्रदेश के समस्त जनपदों की मुख्य जगहों पर होर्डिंग्स लगाकर सरकार के फीस सम्बन्धी फैसले का विरोध करेंगे। इसके बावजूद भी यदि उत्तर प्रदेश सरकार अपने इस फैसले को वापस नहीं लेती है तो मजबूरन समाजवादी छात्रसभा लोकतांत्रिक तरीके से आंदोलन को धार देने का काम करेगी।

समाजवादी छात्र सभा के जिला अधयक्ष अभिषेक मिश्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश लगातार कोविड-19 की वजह से उत्पन्न छात्र-छात्राओं की समस्याओं के समाधान के लिए संघर्षरत है। समाजवादी छात्रसभा का मानना है कि कोरोना महामारी के दौरान विभिन्न शिक्षण संस्थानों की संपूर्ण व्यवस्था बाधित रही है। लोगों का आर्थिक एवं सामाजिक जीवन अस्त-व्यस्त हुआ है। खासकर देश के मध्यम एवं निम्न वर्गों की आर्थिक व्यवस्था चौपट हुई है।

अभिषेक मिश्रा ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण प्रारंभिक कक्षाओं से लेकर उच्च स्तर तक की कक्षाओं का संचालन पूर्णतयः बन्द है। छात्र-छात्राएं घरों के अंदर बंद है जिसका गंभीर दुष्प्रभाव उनके शैक्षणिक सत्र पर पड़ रहा है। ऑनलाइन शिक्षण कार्य भी तकनीकी कठिनाइयों के कारण उपयोगी नहीं साबित हुआ है। अभी भी कोरोना महामारी का प्रकोप कम होने के बजाय लगातार बढ़ता जा रहा है, ऐसे में शिक्षण संस्थाओं के बंद होते हुए भी छात्र-छात्राओं से वर्तमान सत्र एवं छात्रावास की फीस का भुगतान संबंधी आदेश संवेदनहीन एवं अमानवीय है।

सपाइयों ने वर्तमान सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि जहां एक तरफ प्रदेश व देश की जनता अपनी व्यक्तिगत समस्याओं से जूझ रही है वहीं दूसरी तरफ सरकार और शिक्षण संस्थानों के ऐसे अमानवीय आदेश उनके ऊपर कहर बनकर टूट रहे हैं। सबका साथ और सबका विकास का नारा देने वाली भाजपा सरकार कोरोनावायरस को भी अवसर के रूप में इस्तेमाल कर रही है।