कोरोना संक्रमित मरीजों को इलाज के दौरान नहीं होनी चाहिये किसी भी तरह की परेशानी – मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉक्टर नीलकंठ तिवारी मंगलवार को जिलाधिकारी, एसएसपी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी से फोन पर वार्ता कर कोविड के मरीजों के इलाज की बेहतर से बेहतर सुविधा व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने को कहा।

उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक को निर्देशित करते हुए कहा कि थानाध्यक्षों के माध्यम से थानावार कोरोना से संक्रमित की सूची तैयार करा ली जाए और सुनिश्चित कराया जाए कि कोरोना संक्रमित मरीजों के परिवार के सदस्यों का कोविड जांच हुआ कि नहीं। जिन लोगों का अब तक कोविड जाँच न हो सका हो, ऐसे लोगों की सूची मुख्य चिकित्सा अधिकारी को उपलब्ध कराये, ताकि जांच कराई जा सके।

उन्होंने कहा कि शहर में फिजिकल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ लोगों को मास्क लगाया जाना सुनिश्चित कराया जाए। मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी ने जिलाधिकारी से जांच के पश्चात कोविड पॉजिटिव मरीजों को इलाज के लिए तत्काल अस्पताल में शिफ्ट कराए जाने के लिए एंबुलेंस की संख्या बढ़ाए जाने पर भी विशेष जोर दिया।

हेतु एंबुलेंस की संख्या बढ़ाई जाए
जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि वर्तमान में 24 से अधिक एंबुलेंस कोविड मरीजों के लिए लगाया गया है, जिसपर उन्होंने एंबुलेंस की और संख्या बढ़ाए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि जांच में संक्रमित मिलने पर मरीजों अस्पताल शिफ्ट करने में कतई विलंब नहीं होना चाहिए और अस्पतालों में एंबुलेंस से मरीज को पहुंचने पर तत्काल उनको वार्डों में भर्ती किया जाए। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं होनी चाहिए।

उन्होंने सर सुंदरलाल चिकित्सालय बीएचयू का ओपीडी खोले जाने पर भी विशेष जोर दिया। मंत्री डॉक्टर नीलकंठ तिवारी ने सरकारी एवं प्राइवेट नान कोविड अस्पतालों मे जहाँ कोरोना का रेपिड टेस्टिंग की व्यवस्था हो, वहां पर अतिरिक्त संसाधन उपलब्ध कराकर टेस्टिंग की गति बढ़ाए जाने पर विशेष जोर दिया। साथ ही उन्होंने प्रतिदिन एक हजार से अधिक कोविड टेस्टिंग करने वाली मशीन लगाए जाने के लिए उसकी उपलब्धता हेतु केंद्र सरकार को तत्काल पत्र भेजे जाने का निर्देश देते हुए कहा कि वे स्वयं मानव संसाधन मंत्रालय में वार्ता कर मशीन की उपलब्धता तत्काल सुनिश्चित कराएंगे।

सैनिटाइजेशन एवं स्वच्छता के लिए विशेष अभियान चलाए
उन्होंने शहर में सैनिटाइजेशन एवं स्वच्छता के लिए विशेष अभियान चलाए जाने का भी निर्देश दिया। शहीद उद्यान के पास स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा संचालित काशी इंटीग्रेटेड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर (केआईसीसीसी) में एकीकृत कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को 24 घंटा संचालित कर इसे और प्रभारी बनाए जाने पर भी विशेष जोर दिया। उन्होंने अधिकारियों को आपसी समन्वय स्थापित कर कोरोना के इस दौर में मरीजों एवं जन सामान्य को बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराए जाने पर विशेष जोर दिया।