महामारी निषेद्याज्ञा का हुआ उल्लंघन, बड़ा गणेश अखाड़े में हुई कुश्ती

http://www.livevns.in/wp-content/uploads/2020/07/Epidemic-prohibition-violated-riots-in-large-Ganesh-arena-2.jpg

वाराणसी। कोरोना वायरस 19 के संक्रमण से बचाव के लिए पूरे देश में महामारी निषेद्याज्ञा लागू है। ऐसे में नागपंचमी त्यौहार पर पूरे देश में नाग मंदिरों और नाग कूपों पर लगने वाले मेलों और अखाड़ों में होने वाले दंगलों को निरस्त किया गया है। इसके विपरीत धर्म की नगरी काशी में स्थित बड़ा गणेश अंतरराष्ट्रीय अखाड़े में महामारी निषेद्याज्ञा का खुला उल्लंघन देखने को मिला और नागपंचमी में अखाड़े में पहलवानों ने एक दुसरे को पटखनी दी।

इस दौरान अखाड़े के रेफरी मास्क और रुमाल में नज़र आये पर पहलवान बेधड़क एक दुसरे को पटखनी देने में तल्लीन दिखे। इस बात की सूचना पर कोतवाली पुलिस ने 04 व्यक्तियों के विरूद्ध धारा 188 आईपीसी के अंतर्गत कार्रवाई की है।

थाना कोतवाली अन्तर्गत बड़ा गणेश प्राचीन अखाड़े में नाग पंचमी के दिन हर वर्ष ऐतिहासिक कुश्ती दंगल होता है , पर इस वर्ष इसका आयोजन कोरोना महामारी को देखते हुए नहीं होना था पर नागपंचमी की सुबह इस अखाड़े में कुश्ती दंगल का दांव पेंच सिखने वाले पहलवानों ने जमकर कुश्ती लड़ी। इस दौरान महामारी निषेद्याज्ञा का खुला उल्लंघन किया गया।

लोहटिया स्थित अंतरराष्ट्रीय अखाड़ा बड़ागणेश के उस्ताद उत्तर प्रदेश केसरी कृष्ण कुमार सिंह ने बताया कि प्रतिवर्ष होने वाले स्व लल्लु पहलवान स्मृति विराट कुश्ती दंगल का कार्यक्रम कोरोना महामारी (कोविड19) के वजह से स्थगित है। आखाड़े पर केवल श्रृंगार पूजा अर्चन का कार्य हुआ। अखाड़े में सीखने वाले पहलवानों ने कुश्ती लड़ी है। इस दौरान सभी ने मास्क लगाया हुआ था और हाथों को सेनिटाइज़ किया था।

इस सम्बन्ध में जब प्रभारी निरीक्षक कोतवाली से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि थानाक्षेत्र में ही नहीं पूरे जनपद में कुश्ती दंगल पर रोक है। बड़ा गणेश अंतरराष्ट्रीय अखाड़े में कुश्ती दंगल की बात सामने आ रहीं है। जांच की जा रही है, जांच में दोषी पाए जाने पर तत्काल महामारी एक्ट में मुकदमा पंजीकृत कर करवाई की जाएगी।

देखें तस्वीरें