इंटरनेशनल प्लेयर और डीएसपी के भाई ने लगाया आरोप, बड़ागांव पुलिस ने थाने में किया ‘क्वारंटाइन’

International player and DSPs brother accuse Quarantine done by Bargaon police station

वाराणसी।  हम ट्रैक्टर से खेत जोत रहे थे पड़ोसी की मेड़ कटी गयी। इसपर वो पुलिस बुला लाया और हमें पुलिस बड़ागांव थाने ले आई। वहां इन्स्पेक्टर ने कहा इसे क्वारंटाइन कर दो और थाना परिसर में एक दरोगा और दो सिपाहियों ने मुझे बहुत मारा। हमें नहीं पता था कि क्वारंटाइन क्या होता है। उक्त आरोप लगाते हुए लक्ष्मीकांत यादव रो पड़े। लक्ष्मीकांत यादव इंटरनेशनल जैवलिन थ्रोअर (भाला फेंक) महिला खिलाड़ी और वर्तमान में लखनऊ में कस्टम विभाग में डीएसपी पद पर तैनात सुमन यादव के भाई हैं। वे कबीरचौरा मंडलीय अस्पताल में परिजनों के संग मेडिकल करवाने पहुंचे थे।

एक भाई चीन सीमा पर है तैनात
लक्ष्मीकांत यादव ने बताया कि मेरी बहन सुमन यादव जो की जैवलिन थ्रोअर (भाला फेंक) की अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी हैं और इस समय कस्टम डिपार्टमेंट, लखनऊ में डीएसपी हैं। इसके अलावा हमारा भाई फ़ौज में है जो कि इस समय आसाम में चाइना बार्डर पर तैनात है। कल हम अपने खेत में ट्रैक्टर से जोताई कर रहे थे। इस दौरान बगल के व्यक्ति के खेत की मेड कट गयी। हमने उससे कहा कि हम इसे अभी सही करवा देंगे।

हमें जबरदस्ती थाने ले आये, फोन भी छीन लिया
लक्ष्मीकांत ने आरोप लगाया कि वह व्यक्ति कुछ नहीं बोला और सीधे बड़ागांव थाने चला गया। वहां से पुलिस लेकर आया तो हमने उस वक़्त भी कहा कि साहब हम इसे सही करवा देंगे लेकिन वो लोग नहीं माने और हमें जीप में बैठालकर थाने ले आये हमने अपने भाई और बहन को फोन करना चाहा तो हमसे फोन छीन लिया।

थानेदार बोले ले जाओ क्वारेंटाइन कर दो
लक्ष्मीकांत यादव ने आरोप लगाते हुए कहा कि थाने पहुँचने पर इन्स्पेक्टर ने मामला पूछा और कहा कि ले जाओ इसे क्वारंटाइन कर दो। उसके बाद एक दरोगा और दो सिपाहियों ने थाना परिसर में हमें बहुत पीटा। उसके बाद मुझे छोड़ दिया और कहा कि कहीं शिकायत मत करना वरना बंद कर देंगे।

बनारस आ रही हैं डीएसपी बहन
फिलहाल इस सूचना पर लखनऊ से कस्टम की डीएसपी और लक्ष्मीकांत की बहन सुमन यादव वाराणसी के लिए चल चुकी हैं और लक्ष्मीकांत शिव प्रसाद गुप्त अस्पताल में अपना मेडिकल करवा रहे हैं।

हमारे थाने में नहीं हुई ऐसी कोई बात : थानाध्यक्ष
इस सम्बन्ध में जब थानाध्यक्ष बड़ागांव अजित सिंह से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि 23 जुलाई को हमें सूचना मिली थी कि लक्ष्मीकांत यादव अपने पडोसी के साथ ज़मीन कब्ज़ा करने का विवाद कर रहे हैं। इस सूचना पर पुलिस उन्हें थाने ले आयी उनका 151 में चालान किया गया था। थानाध्यक्ष से जब लक्ष्मीकांत के द्वारा लगाए गए आरोपों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा की आरोप लगा रहे हैं तो यह जांच का विषय है और अधिकारी जांच करेंगे इसकी, ऐसी कोई बात हमारे थाने में नहीं हुई है।

देखें वीडियो