सात साल का हुआ Live VNS : जल्‍द नये अवतार में नजर आएगा इसका ऐप, होंगे ढेर सारे फीचर्स

Live VNS, वाराणसी जि‍ले से शुरू की गयी एक डि‍जि‍टल न्‍यूज सेवा है, जो भारत सरकार के सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्यम मंत्रालय के तहत रजिस्‍टर्ड कंपनी है। ये एक रजि‍स्‍टर्ड ट्रेडमार्क भी है। Live VNS का डिजिटल प्रसारण 20 अगस्‍त 2013 से वाराणसी और हैदराबाद से किया जा रहा था। बीते वर्ष ही हमने इसे पूरी तरह से वाराणसी शि‍फ्ट कर दि‍या है। आज हम अपनी 7वीं वर्षगांठ मना रहे हैं। इसके साथ ही हम आज वाराणसी की जनता के बीच नयी घोषणा भी कर रहे हैं। हम इसी अगस्‍त महीने के अंत तक अपने नये एंड्रॉएड ऐप को लांच करने जा रहे हैं, जो ना सि‍र्फ दुनि‍या के सबसे बड़े सर्वर में से एक गूगल क्‍लाउड के प्‍लेटफॉर्म पर चलेगा बल्‍कि‍ इसमें वो तमाम फीचर्स होंगे जि‍से आज के दौर में बनारसवासी अपनी सबसे बड़ी जरूरत के रूप में देख रहा है। क्‍या होंगे वो तमाम फीचर्स इसके बारे में वि‍स्‍तार से जानेंगे, उससे पहले आइये जानते हैं लाइव वीएनएस के बारे में कुछ जरूरी बातें।

सबसे प्राचीन नगरी का सबसे पहला डेली न्‍यूज पोर्टल
हम (Live VNS) पि‍छले सात साल से बनारस की जनता के लिये वाराणसी की खबरें निष्‍पक्ष भाव से अपने वेब न्‍यूज़ पोर्टल के जरिए प्रस्‍तुत करते आ रहे हैं। 160 साल से भी पुरानी ‘काशी की पत्रकारि‍ता’ के इति‍हास में पहली बार हमने प्रति‍दि‍न के समाचारों को डि‍जि‍टल माध्‍यम के जरि‍ए प्रकाशि‍त करने का साहस दि‍खाया। हमें विश्‍व की सबसे प्राचीन जीवंत नगरी काशी का सबसे पहला वेब न्‍यूज़ पोर्टल होने का गौरव प्राप्‍त है। इसी के साथ काशी में न्‍यू जर्नलि‍ज्‍म की भी शुरुआत हुई है।

Live VNS ने देशभर के युवा पत्रकारों को दि‍खाया रास्‍ता
बनारस जि‍ले के लि‍ये सबसे पहले वेब न्‍यूज पोर्टल Live VNS ने समय और पैसों के झंझावतों से जूझते हुए इस प्राचीन नगरी में न्‍यू मीडि‍या की नींव रखने का कार्य कि‍या। केवल इतना ही नहीं हमारे इस कदम के बाद देखते ही देखते कुछ ही वर्षों में देश के वि‍भि‍न्‍न शहरों में वहां के युवा पत्रकारों ने जि‍लास्‍तर पर न्‍यूज़ वेबसाइट्स शुरू की और आज ज्‍यादातर अपने अपने जिलों में सफल हैं। आपको ये पता होना चाहि‍ए कि‍ देश के तकरीबन हर जि‍ले में आज स्‍थानीय न्‍यूज वेबसाइट्स चल रही हैं।

समय के साथ बदलने का वक्‍त आ गया है
हम आपको बताना चाहते हैं कि‍ जल्‍द ही हम Live VNS को एक नये कलेवर में लेकर आ रहे हैं। बीते सात साल में हमें वाराणसी की जनता का अपार प्रेम और वि‍श्‍वास हासि‍ल हुआ है। नि‍:संदेह इसके साथ ही हमारी जि‍म्‍मेदारि‍यां बढ़ जाती हैं। शुरुआत से ही हम छोटे सर्वर पर अपनी वेबसाइट को लेकर चल रहे थे। किंतु कोरोना काल में अचानक वाराणसी की जनता का बेशुमार प्‍यार हमें हासि‍ल हुआ। परि‍णाम ये हुआ कि‍ हमारा छोटा सा शेयर्ड सर्वर जनता की अपेक्षाओं का भार उठा पाने में अक्षम साबि‍त होने लगा और बार बार सर्वर ड्रॉप होने लगा। इसी दौरान हमने अपने इस उपक्रम को बड़ा रूप देने का फैसला कि‍या।

हमारा एंड्राएड ऐप होगा पहले से ज्‍यादा बेहतर
हम आपको बता दें कि‍ आने वाले कुछ ही दि‍नों में हम पूरी तरह से अपने एंड्राएड ऐप पर शि‍फ्ट होने जा रहे हैं। हमारा एंड्राएड ऐप पहले से कहीं बेहतर, इस्‍तेमाल करने में ज्‍यादा असान और ढेर सारे फीचर्स के साथ वाराणसी की जनता के बीच होगा। ये भारत का पहला ऐसा ऐप होगा जो एक शहर को ध्‍यान में रखकर तैयार कि‍या जा रहा है। इस ऐप की सफलता ये तय करने के लि‍ये काफी होगी कि‍ हम पहले यूपी और फि‍र देश के सभी जि‍लों के लि‍ये उनके शहर का अपना ऐप लेकर आएंगे। इसके लि‍ये हमने मुम्‍बई और बेंगलूरू के इन्‍वेस्‍टर्स से संपर्क भी शुरू कर दि‍या है।

पूरी तरह से नि‍:शुल्‍क होगा Live VNS ऐप
वैसे तो अभी हमारा ऐप अपने नि‍र्माण के पहले चरण में हैं और हम आने वाले कुछ दि‍न में ही इसे वाराणसी में लांच कर रहे हैं। इसमें तमाम ऐसे फीचर्स होंगे जो एक शहरवासी की जरूरतों को पूरा करने में उनकी मदद करेगा। सबसे अहम बात ये कि‍ हमारे सभी फीचर्स बि‍ल्‍कुल नि‍:शुल्‍क होंगे यानि‍ हम जनता से इन फीचर्स के उपयोग करने के लि‍ये कोई शुल्‍क नहीं लेने वाले, भवि‍ष्‍य में भी ये पूरी तरह से नि‍:शुल्‍क ही रहेगा। तो आइये जानते हैं कि‍ आखि‍र हमारे नये ऐप में क्‍या क्‍या फीचर्स होंगे।

1. न्‍यूज : चूंकि‍ हमारी पहचान वाराणसी की स्‍थानीय खबरों को लेकर बनी है, ऐसे में इस ऐप का मूल उद्देश्‍य लोगों को वाराणसी की खबरों से हर पल रूबरू कराना ही होगा। बनारस में रहने वाले, या फि‍र देश दुनि‍या में कहीं भी रह रहे बनारस वालों को उनके अपने जि‍ले की सबसे वि‍श्‍वसनीय खबरें हम पहले भी देते रहे हैं और आगे भी ये क्रम नहीं टूटेगा। बल्‍कि‍ अबतक शहरी क्षेत्र पर फोकस रहा हमारा प्‍लेटफॉर्म अब सम्‍पूर्ण जि‍ले को लेकर आगे बढ़ेगा। अर्थात् बनारस के शहरी मोहल्‍लों से लेकर गांव गांव तक की खबरें इस प्‍लेटफॉर्म पर उपलब्‍ध होंगी। इसके लि‍ये संवाददाताओं की एक बड़ी टीम हमने तैयार करना शुरू कर दि‍या है। इसके अलावा हमने देश की सबसे बड़ी हि‍न्‍दी न्‍यूज एजेंसी आईएएनएस के साथ हाथ मि‍लाया है और देश, दुनि‍या, फि‍ल्म और खेल जगत की महत्‍पूर्ण खबरें भी हम अपने Live VNS ऐप के जरि‍ये आप तक पहुंचाएंगे। इसमें वाराणसी, नेशनल, इंटरनेशनल, बि‍जनेस, स्‍पोर्ट्स, इंटरटेन्‍मेंट, धर्म आदि‍ कैटेगरी के जरि‍ये हम आपकी जि‍ज्ञासा शांत करने की कोशि‍श करेंगे।

2. डायरेक्‍ट्री (अथॉरि‍टी) : अपने नये ऐप के जरि‍ये हम वाराणसी की लोकल डायरेक्‍ट्री तैयार कर रहे हैं। यहां (अथॉरि‍टी सेक्‍शन में) आपको वाराणसी के सभी सरकारी वि‍भागों के कॉन्‍टेक्‍ट नंबर मि‍लेंगे। इनमें जि‍ले के बड़े अफसरों से लेकर थाने, चौकी और हलका तक के नंबर आपको सि‍र्फ एक ऐप के जरि‍ये उपलब्‍ध हो सकेगा। साथ ही चाहे बि‍जली वि‍भाग हो, आपके स्‍थानीय बि‍जली सब स्‍टेशन हों, नगर नि‍गम, तहसील, वि‍कास प्राधि‍करण, वि‍कास खंड कार्यालय, आरटीओ ऑफि‍स, इनकम टैक्‍स ऑफि‍स, बेसि‍क शि‍क्षा वि‍भाग कार्यालय आदि‍ के कांटेक्‍ट नंबर ढूंढने के लि‍ये आपको इधर उधर परेशान नहीं होना पड़ेगा।

3. डायरेक्‍ट्री (सर्वि‍सेज़) : हमारे ऐप के लोकल डायरेक्‍ट्री कैटेगरी में ही आपको सर्वि‍सेज़ सेक्‍शन में बनारस के डॉक्‍टर्स, आर्कि‍टेक्‍ट, सीए, अधि‍वक्‍तागण, स्‍कूल, कोचिंग, इंस्‍टीट्यूट यहां तक कि‍ पंडि‍त-पुरोहि‍त से लेकर स्‍कि‍ल्‍ड लेबर, वर्कर, इलेक्‍ट्रीशि‍यन, प्‍लंबर आदि‍ के कॉन्‍टेक्‍ट नंबर भी उपलब्‍ध कराये जाएंगे, जि‍ससे आप अपनी कि‍सी भी प्रकार की समस्‍याओं के लि‍ये घर बैठे ही उनसे संपर्क स्‍थापि‍त कर सकें।

4. लि‍स्‍टिंग : बनारस चूंकि‍ पूरी तरह से व्‍यापारि‍यों का शहर है। हमारे नये ऐप में हमने व्‍यापारि‍यों का वि‍शेष ध्‍यान रखा है। कोरोना काल में बारंबार लॉकडाउन की स्‍थि‍ति‍ है ऐसे में लोग घरों से बाहर नि‍कलने में हि‍चक रहे हैं। आधुनि‍क युग में जि‍स प्रकार हम अपनी धरती का दोहन कर रहे हैं उसे देखते हुए आने वाला वक्‍त भी नये वायरस के खतरों से महफूज़ नहीं है, लि‍हाज़ा भवि‍ष्‍य में भी लॉकडाउन जैसी समस्‍याएं आम होंगी। इस बात को ध्‍यान में रखते हुए हमने स्‍थानीय व्‍यापारि‍यों और ग्राहकों के बीच भौगोलि‍क दूरी को टेक्‍नॉलॉजी के माध्‍यम से कम करने का प्रयास कि‍या है। हमारे नये ऐप में बनारस के व्‍यापारी खुद अपने आप जुड़ सकते हैं। इसके लि‍ये जल्‍द ही हम ऑनलाइन रजि‍स्‍ट्रेशन फॉर्म के अलावा डोर टू डोर कैंपेन भी चलाएंगे। हमारे ऐप पर नि‍:शुल्‍क रजि‍स्‍ट्रेशन करा के व्‍यापारीगण अपनी दुकान और व्‍यवसाय की बेसि‍क जानकारी हमारे ऐप पर डाल सकते हैं, जि‍ससे हमारे ऐप पर मौजूद वाराणसी की जनता उनके व्‍यापार के बारे में अच्‍छी तरह से जान सके और जरूरत पड़ने पर उनसे बि‍ना कि‍सी बाधा के संपर्क स्‍थापि‍त कर सके। नि‍कट भवि‍ष्‍य में इस लि‍स्‍टिंग कैटेगरी को लोकल ई कॉमर्स के एक बड़े प्‍लेटफॉर्म के रूप में वि‍कसि‍त करने की योजना है, जहां घर बैठे वाराणसी के कि‍सी भी व्‍यापारी से ऑनलाइन खरीददारी भी की जा सकती है। ये एक बड़ा सेक्‍शन है इसलि‍ये यहां पूरी बात बता पाना मुमकि‍न नहीं है। इसके लि‍ये अगल से आलेख लि‍खा जाएगा।

5. एनजीओ कनेक्‍ट : इसके साथ ही हम वाराणसी के सभी स्‍वयं सेवी समूहों को भी अपने ऐप के जरि‍ये ऑनलाइन ला रहे हैं। बनारस में वि‍भि‍न्‍न स्‍तरों पर काम कर रही स्‍वयंसेवी संस्‍थाएं हमारे ऐप के माध्‍यम से खुद को नि‍:शुल्‍क रजि‍स्‍टर्ड करा सकती हैं। इसके बाद वो अपने कार्यक्रमों की जानकारी लोगों तक पहुंचा सकती हैं, बि‍ना कि‍सी बाधा के। साथ ही वि‍भि‍न्‍न प्रकार की सामाजि‍क संस्‍थाओं से आम जनता खुद भी जुड़ सकती है, उनसे मदद मांग सकती है। वाराणसी में कई ऐसी सामाजि‍क संस्‍थाएं हैं जो दि‍न रात जरूरतमंदों की मदद करती हैं, बावजूद इसके ज्‍यादातर जनता को इनके बारे में पता भी नहीं होता, ऐसे में हमारा ऐप एनजीओ और आम जनता के बीच सेतु का काम करेगा।

6. गवर्नेंस : अक्‍सर ये देखा जाता है कि‍ लोग जि‍लाधि‍कारी कार्यालय या पुलि‍स वि‍भाग अथवा अन्‍य सरकारी वि‍भागों से जोड़कर फेक जानकारि‍यां सोशल मीडि‍या पर वायरल करने लगते हैं। वहीं कई बार सरकारी स्‍तर पर जारी की गयी सूचनाएं जनता तक उलझाऊ रूप में पहुंचती हैं। इस समस्‍या को हम सबने लॉकडाउन के काल में महसूस कि‍या है। इसे देखते हुए हमने वाराणसी के सरकारी दफ्तरों की ओर से जनता के लि‍ये जारी की जाने वाली आधि‍कारि‍क सूचनाओं को जैसे का तैसा पब्‍लि‍श करने का बीड़ा उठाया है। इसमें जि‍लाधि‍कारी कार्यालय, वाराणसी पुलि‍स, वि‍कास प्राधि‍करण, वाराणसी नगर नि‍गम, काशी हि‍न्‍दू वि‍श्‍ववि‍द्यालय, डीजल रेल इंजन कारखाना, बेसि‍क शि‍क्षा वि‍भाग, सीआरपीएफ, एनडीआरएफ के साथ साथ श्रीकाशी वि‍श्‍वनाथ मंदि‍र ट्रस्‍ट तथा अन्‍य सरकारी वि‍भागों और संस्‍थानों की आधि‍कारि‍क प्रेस रि‍लीज़ और उपलब्‍ध पीडीएफ फाइल भी आपको यहां पढ़ने को मि‍लेगी। इसके अलावा वाराणसी के सभी आठों वि‍धायक और सांसद कार्यालय की ओर से जनता के लि‍ये जारी होने वाली सूचनाएं भी हम इस सेक्‍शन में आपके लि‍ये पब्‍लि‍श करेंगे।

7. सि‍टि‍जन : ये सेक्‍शन हमारे सि‍टी लाइव कैटेगरी के अंतर्गत होगा। हमारे ऐप पर नि‍:शुल्‍क रजि‍स्‍टर्ड हर पाठक अपनी अभि‍व्‍यक्‍ति‍ की आजादी का पालन करते हुए अपने आस पास की मूलभूत समस्‍याओं, जैसे – सड़क, बि‍जली, नाली, साफ सफाई, स्‍वास्‍थ्‍य आदि‍ के संबंध में जानकारी दे सकता है। जि‍न्‍हें आवश्‍यक्‍ता पड़ने पर हम सीधे अपने न्‍यूज सेक्‍शन में ट्रांसफर करके उसे संबंधि‍त वि‍भाग और जि‍ले के आलाधि‍कारि‍यों तक पहुंचाने का बीड़ा उठाएंगे।

8. फोरम : सि‍टी लाइव कैटेगरी के अंतर्गत ये सवाल पूछने का एक खुला मंच होगा, जहां वाराणसी की जनता कोई भी ऐसा प्रश्‍न पूछ सकती है, जि‍सका उत्‍तर तमाम लोगों की जि‍ज्ञासाओं को शांत करने वाला हो या फि‍र लोगों की जानकारी में इजाफा हो। फोरम कैटेगरी ज्‍यादातर अंग्रेजी वेबसाइट्स और ऐप में काफी प्रचलि‍त हैं। हमें उम्‍मीद है कि‍ वाराणसी की शि‍क्षि‍त जनता इस फोरम का पूरा उपयोग करेगी और यहां पूछे गये सवालों का जवाब देने के लि‍ये आगे आएगी।

9. रेट : सि‍टी लाइव कैटेगरी के अंतर्गत ही ये सेक्‍शन वाराणसी में उपलब्‍ध सेवाओं के रेट के बारे में जानकारी प्रदान करेगा। इनमें ऑटो, बस, टैक्‍सी, पार्क, वाटर पार्क, जि‍म, सि‍नेप्‍लेक्‍स, मल्‍टीप्‍लेक्‍स, सि‍नेमा हॉल, ऑडि‍टोरि‍यम आदि‍ के रेट के बारे में जानकारी उपलब्‍ध करायी जाएगी।

10. ट्रैवेल : ये सेक्‍शन सि‍टी लाइव कैटेगरी के अंतर्गत ही होगा। इसमें वाराणसी में स्‍थि‍त तमाम दर्शनीय स्‍थलों तथा आस पास के जि‍लों के दर्शनीय स्‍थलों की जानकारी उनका गूगल मैप के जरि‍ये लोकेशन और उस पर्यटन स्‍थल पर अगर कोई सरकारी अथवा नि‍जी प्रशासन का कोई सूचना केंद्र स्‍थापि‍त है, तो उसका टेलीफोन नंबर भी उपलब्‍ध कराया जाएगा। इसके अलावा यहां वाराणसी के सभी रेस्‍टुरेंट्स, सभी प्रकार की प्राइवेट नाव, बजड़े, क्रूज़ और मोटरबोट की जानकारी तथा उनसे संपर्क करने की सुवि‍धा भी मॉजूद रहेगी। सि‍र्फ इतना ही नहीं वाराणसी के सभी बड़े होटल, गेस्‍ट हाउस, पेइंग गेस्‍ट और लॉज की जानकारी भी हम यहां उपलब्‍ध कराएंगे। भवि‍ष्‍य में हम इसी प्‍लेटफॉर्म से इनकी ऑनलाइन बुकिंग कराने की सुवि‍धा भी प्रदान करेंगे।

हम सब इस नये प्रयोग के सफल होने की बाबा वि‍श्‍वनाथ से कामना करते हैं। आपका आशीर्वाद और मार्गदर्शन हमें मि‍लता रहे। आप अपने सुझाव हमें हमारे ईमेल [email protected] पर या हमारे वाट्सएप नंबर 8840585921 पर दे सकते हैं।

आपका
ईश्‍वर उपाध्‍याय
मुख्‍य कार्यकारी अधि‍कारी/प्रबंध संपादक
Live VNS