वाराणसी : प्राइवेट चिकित्सालयों से मंत्री रवीन्द्र जायसवाल ने की अपील, कोविड 19 से बचाव में करें सहयोग

वाराणसी। जनपद में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के चलते सरकारी चिकित्सालयों पर निरन्तर दबाव बढ़ता जा रहा है इसी को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश के स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रवीन्द्र जायसवाल ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन, मुख्य चिकित्साधिकारी व सभी प्रमुख निजी चिकित्सालय के डॉक्टरों के साथ वर्चुअल बैठक कर इस महामारी में अपना अहम योगदान देने की अपील की है।

मंत्री रवीन्द्र जायसवाल ने कहा कि जहां शहर में एक ओर लगातार संक्रमण बढ़ता जा रहा है और सभी सरकारी अस्पतालों में सभी कर्मचारीगण दिनरात एककर मेहनत कर रहे हैं ऐसी स्थिति में सिर्फ सरकारी चिकित्सालयों पर निर्भर रहना बुद्धिमानी नहीं है इसलिए लगातार बढ़ रहे संक्रमण को देखते हुए निजी अस्पतालों को भी कोविड 19 के लिये लेवल 1 व लेवल 2 के आईसोलेशन वार्ड के लिए प्रदान करना चाहिए, जिससे सरकारी चिकित्सालयों पर बना दबाव कम हो सकेगा और मरीजों को भी अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकेंगी।

उन्होंने कहा कि सरकार का भी स्पष्ट निर्देश है कि जिन-जिन निजी चिकिसलयों का कोविड 19 में इस्तेमाल किया जाएगा, वह बीमा सुविधा से आच्छादित रहेंगे। मंत्री ने चिकित्सकों को अपील करते हुए कहा कि जिस प्रकार इजराइल में किसी भी राष्ट्रीय संकट के दौरान आम जनता भी योद्धा के रूप खड़ी रहती है, उसी प्रकार इस वैश्विक महामारी में सभी चिकित्सकों को अहम योगदान देना चाहिए।

इस दौरान मीटिंग में उपस्थित सभी डॉक्टरों ने मंत्री व मुख्य चिकिसाधिकारी को आश्वस्त किया कि प्रशासन का यथोचित सहयोग मिले तो वह अपने अपने चिकित्सालयों को लेवल 1 व लेवल 2 के आइसोलेशन वार्ड के लिए उपयोग करेंगे। मंत्री रवीन्द्र जायसवाल व मुख्य चिकिसाधिकारी व अपर जिलाधिकारी प्रशासन ने भी चिकित्सकों को आश्वस्त किया कि प्रशासन से यथासम्भव सहयोग दिया जाएगा।

वर्चुअल बैठक में डॉ एस पी यादव, डॉ सुबोध कुमार सिंह, डॉ अशोक राय, डॉ एसपी सिंह, डॉ मधुलिका सिंह, डॉ पल्लवी मिश्रा, डॉ मनीष चौधरी, डॉ प्रीति गुप्ता, डॉ एस के सिंह, डॉ आलोक भारद्वाज, डॉ सफीक हैदर आदि मौजूद रहें।