महामारी में साथ न देने वाले वाराणसी के 10 प्राइवेट अस्‍पतालों के खि‍लाफ कारण बताओ नोटि‍स जारी

वाराणसी। जनपद में तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण के चलते जिला प्रशासन द्वारा यह निर्णय लिया गया है कि जरुरत पड़ने पर निजी चिकित्सालयों और निजी एंम्बुलेंस सेवा को भी अधिग्रहण करते हुए कोविड मरीजों के इलाज में इस्तेमाल किया जाएगा। कमिश्नर द्वारा मुख्य चिकित्सा अधिकारी को यह भी निर्देश दिया गया था कि जो भी इस निर्देश का पालन नहीं करेगा ऐसे निजी नर्सिंग होमों को चिह्नि‍त कर लाइसेंस निरस्त कर दिया जाए।

कमिश्नर के आदेश के बाद गुरुवार को ऐसे 10 अस्पतालों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है, जिन्होंने संबंधित थाने द्वारा कॉल आने पर भी निर्देशों का पालन नहीं किया और एंम्बुलेंस को थाने पर अधिग्रहण के लिए नहीं भेजा।

इस संबंध में इन सभी अस्पतालों को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए निर्देशित किया गया है कि उक्त से संबंध में अपना स्पष्टीकरण लौटती डाक से प्रेषित करें, वरना आगे की कार्रवाई करते हुए इन चिकित्सालयों का पंजीयन रद्द कर दिया जाएगा, जिसके लिये अस्पताल खुद जिम्मेदार होंगे।

वैश्विक महामारी को देखते हुए महामारी में सहयोग ने करने पर और महामारी नियम का खुला उलंघन करने पर ग्लोबल हॉस्पिटल अवलेशपुर, एपेक्स ह़ॉस्पिटल डीएल़डब्ल्यू, नंदिनी हॉस्पिटल चुनार रोड, शुभम मेडिकल केयर सिगरा, पापुलर मेडिकेयर लिमिटेड ककरमत्ता, नोवा हॉस्पिटल बाबतपुर एयरपोर्ट रोड, सनराइज हॉस्पिटल अवलेशपुर घौसाबाद, श्री श्याम हॉस्पिटल शिवपुर, मैक्स हॉस्पिटल ककरमत्ता और काशी हॉस्‍पि‍टल भि‍खारीपुर को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।