अब स्वयं सहायता समूह की बहनों ने भेजी भाई नरेंद्र मोदी के लिए राखी

Now Sisters of Self Help Group sent Rakhi for Brother Narendra Modi (2)

वाराणसी। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में राखी का रंग भी अनूठा है। यहां बहन अपने भाई को राखी तो बांधती ही है पर वो अपने सांसद नरेंन्द्र मोदी को भी अपने प्यार और स्नेह से बनी हुई राखी भेजती है। इसी क्रम में डूडा (जिला शहरी विकास अभिकरण) कार्यालय पर जनपद की स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने डूडा अधिकारी को अपने हांथ से बनाई राखी दी और उसे प्रधानमंत्री तक पहुंचवाने का आग्रह किया।

भाई-बहन के प्यार हुए स्नेह का पर्व रक्षाबंधन 4 अगस्त को मनाया जाएगा। इस त्यौहार को लेकर पूरे देश में बहने तैयारियों में लगी हुई है। इसी क्रम में वाराणसी जनपद के स्वयं सहायता समूह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार करते हुए घरेलू सामानों से राखी तैयार की है और बुधवार को इस संस्कृति संकुल स्थित डूडा कार्यालय में डूडा अधिकारी जया सिंह को दी।

इस समबन्ध में जिला डूडा अधिकारी जया सिंह ने बताया कि ये हमारी 26 से 27 स्वयं सहायता समूह की 50 से ऊपर महिलाएं हैं जो पिछले एक महीने से राखी की तैयारी कर रही हैं और आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत घरेलू सामानों से राखी बना रही है। जया सिंह ने बताया कि इन महिलाओं की यह इच्छा थी की हमारी बनायी गयी राखी प्रधानमंत्री के हाथों में सजे। इस बात पर मैंने इन्हे आश्वासन दिया था।

जया सिंह ने कहा कि इन महिलाओं ने आत्मनिर्भर भारत की परिकल्पना को साकार किया है और उन्होंने घरेलू सामान मिट्टी, तुलसी, रुद्राक्ष आदि से ये राखी सजाई और बनाई है। जया सिंह ने बताया कि व्यापार मंडल के सहयोग से अभी तक 20 से 22 हज़ार राखियां बनारस और बाहर के बाज़ारों में इन महिलाओं ने बेचीं है। इससे स्वदेशी की संकल्पना भी साकार हुई है।

उन्होंने बताया कि हम आज ही इस राखी को प्रधानमंत्री जी को भेज रहे हैं और हमें उम्मीद है कि ये राखी रक्षाबंधन तक पीएमओ पहुँच जाएगी और प्रधानमंत्री के हाथों में ये सजेगी। जया सिंह ने कहा कि आने वाले त्योहारों में भी हम देसी सामानों पर फोकस करेंगे जैसे दिवाली में मिटटी के दिए और होली में फोलों से रंग।

राखी बनाने वाली चन्द्रकला विश्वकर्मा ने बताया कि हम लोग आत्मनिर्भर भारत के तहत प्रधानमंत्री के प्रेरणा से हमने कोरोना काल की आपदा को अवसर बनाते हुए हमने घरेलू सामानों से राखी बनाए और आज हम लोगों ने प्रधानमंत्री जी को राखी भेजी है। जिलाधिकारी और डूडा की वजह से आज हम लोगों की आर्थिक स्थिति भी सुदृण हो गयी है।

देखें वीडियो