सैनिकों की कलाई पर सजेगी बच्चों और ग्रामीणों के द्वारा बनायीं गयी राखी

Rakhi

वाराणसी। महामना मालवीय गंगा शोध केंद्र बीएचयू वाराणसी के ईको-स्किल्ड गंगामित्रों की नई पहल पे कोविड-19 को ध्यान में रखते हुये घर पर ही रहकर देशी राखियां तैयार की जा रही है। इसको तैयार करने में सूरज कोचिंग के बच्चे, बीएचयू छात्र व ग्रामीण क्षेत्रो से राखियां बनाई जा रही है ।

इस पहल में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले इको-स्किल्ड गंगामित्र धर्मेन्द्र कुमार पटेल ने बताया कि इस समय देश में कोरोना की स्थिति भयावह है और सामाजिक दूरी अपनाते हुए भिन्न-भिन्न क्षेत्रो से तैयार किये जा रहे है देशी राखियां। इसको तैयार करने में सूरज कोचिंग के बच्चे, बीएचयू छात्र व ग्रामीण क्षेत्रो से राखियां बनाई जा रही है। साथ ही साथ देश के वीर योद्धाओं को बच्चों द्वारा सेना के प्रति भाव को पिरोकर ग्रीटिंग्स कार्ड भी भेजे जा रहे है।

इस पहल में इको-स्किल्ड गंगामित्र घनश्याम,श्रेयष वर्मा,प्रीति पटेल,अज़मेर आलम, स्नेहा कश्यप, दिव्यानि,सुमित, सभ्या,शालिनी, सौरभ,आदि गंगामित्रों का सहयोग मिल रहा है ।