टीवी पर ऐड देखने के देता था पैसे, लॉकडाउन में करोड़ों लेकर हुआ था फरार, पुलिस ने किया गिरफ्तार

वाराणसी। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वाराणसी द्वारा वांछित अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान के क्रम में वाराणसी पुलिस ने गुरुवार को फर्जी कंपनी चलाकर करोड़ों का फ्रॉड करने वाले गिरोह के वांछित अभियुक्त को गिरफ्तार कर बड़ी सफलता पाई है।

उप निरीक्षक चन्द्रदीप कुमार चौकी प्रभारी चांदमारी अपनी पुलिस टीम के साथ चेकिंग अभियान में थे कि उस दौरान आईपीसी की धारा 406/420/467/468/471/120बी/34 में वांछित अभियुक्त मनोज कुमार शर्मा को भोजूबीर चौराहे के पास से गिरफ्तार कर लिया, पर मौके से अभियुक्त का साथी फरारा हो गया।

पूछताछ के दौरान अभियुक्त मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि हम लोगों द्वारा संचालित कम्पनी DOOROTISER MEDIA PRIVATE LIMITED MAKARBA AHMEDABAD तथा CATCHY PIXEL COMPANY है, अपनी कम्पनी के नाम पर हजारों लोगों से करोड़ो रूपये फर्जी दस्तावेज कुटरचित पम्पलेट द्वारा प्रचार प्रसार करके जनता के व्यक्तियों से धन ले लिया गया, जिसका संक्षिप्त विवरण निम्नवत है।

अभियुक्त ने बताया कि कम्पनी DOOROTISER MEDIA PRIVATE LIMITED MAKARBA AHMEDABAD के नाम से कम्पनी है इसके डायरेक्टर अशोक कुमार शर्मा और मोहन शर्मा जोनल हेड, रजत सिंह उर्फ हरपाल मार्केटिंग हेड, अनिरूद्ध शर्मा, सैल्स हेड विजय शर्मा है। इस कम्पनी का मुख्यालय मकरवा अहमदाबाद गुजरात है तथा कम्पनी का ट्रेड मार्क CATCHY PIXEL है।

इस कम्पनी के मास्टर फ्रैन्चाइजी वाराणसी के मालिक राजेश सिहं थाना सैदपुर जनपद गाजीपुर का है। इनका कार्यालय नटिनियादाई मन्दिर थाना शिवपुर वाराणसी में है। जहाँ से इनका संचालन किया जाता है। तथा लोगो को कम्पनी से जोड़ा जाता है।

अभियुक्त ने बताया कि कंपनी द्वारा लोगों को यूट्यूब के माध्यम से प्रलोभन देती है, जिसमें बताया जाता था कि टीवी देखे और 5000 रुपये प्रतिमाह कमाया जा सकता है। फैसबुक पेज बनाकर एवं पम्पलेट बाटकर कम्पनी का प्रचार प्रसार करना तथा लोगो को इससे जोड़ना। प्रति क्स्टमर 45,000 रुपये कम्पनी के खाते में जमा कराना तथा बदले में उनको एक टीवी देना तथा 24 घण्टे में 4 घण्टे विज्ञापन देखने पर प्रतिमाह 5000 रुपये देने का आश्वासन देना, जिसपर लोग लालच में आकर कंपनी में पैसे इंवेस्ट करते हैं।

वाराणसी में अधिकतम लोग कम्पनी से अक्टूबर 2019 के बाद जुड़े हैं। लगभग 9 करोड़ रुपया जनता के लोगो से लिया गया है तथा लॉकडाउन में अधिक कमीशन का लाभ देकर 2 करोड रूपया जमा कराया गया है। इस तरह 11 करोड रुपया कम्पनी द्वारा लिया गया है। पूरे भारत में लगभग 125 फ्रैन्चाइजी है प्रत्येक से 5 लाख रुपये लिया गया है। कंपनी लगभग 90 करोड़ से ज्यादा रुपया लोगो से जमा कराकर भाग गयी है।

इस कम्पनी के फ्रैन्चाइजी उत्तर प्रदेश, बिहार, झारझण्ड, राजस्थान, गुजरात तथा देश के अन्य राज्यों में भी बने है। गिरफ्तार किये गए अभियुक्त पर थाना शिवपुर द्वारा आवश्यक कार्रवाई की जा रही है। गिरफ्तार करने वाली टीम में उप निरीक्षक चन्द्रदीप कुमार प्रभारी चौकी चांदमारी, कांस्टेबल चन्दन सिंह, कांस्टेबल अजीत कुमार गुप्ता थाना शिवपुर ने मुख्य भूमिका निभाई।