28 C
Varanasi
Wednesday, April 1, 2020

कोरोना वायरस : जाने किस तरह के हैंड सेनिटाइजर कोरोना से बचने में है कारगर

Must Read

सेहत के लिए वरदान है कड़वा करेला, जाने इसकी खूबियां 

करेले का नाम सुनते ही हमारे मन में कड़वेपन का एहसास होता है इसीलिए कई लोग इसे खाना पंसद...

कोरेना वायरस और बर्ड फ़्लू से बचाएगा ये साइबर पंक मास्क, काशी की चार छात्राओं ने किया है तैयार

वाराणसी। शहर में बर्ड फ़्लू की दस्तक के बाद हर कोई सहमा हुआ है। उधर कोरोना वायरस से भी...

जमकर खेलें होली, मगर जरूर ध्‍यान रखें ये जरूरी बात, नहीं तो झेलनी पड़ सकती है परेशानी

वाराणसी। होली का त्योहार हम सभी पूरे आनंद और जोश के साथ मनाते है, लेकिन कभी कभी होली के...

पूरे विश्व में इस वक्त नोवेल कोरोना वायरस का कहर देखने को मिल रहा है। भारत में भी इसे महामारी का रुप दे दिया गया है। यूनिसेफ से लेकर डब्ल्यूएचओ भी इस खतरनाक वायरस से बचने की एडवाइजरी जारी कर चुका है। यह वायरस इतना खतरनाक है कि संक्रमित व्यक्ति के टच में आने से और तेजी से फैल रहा है। इससे खुद को बचाने के उपाय में एक चेहरे को मास्क से कवर कर के ही घर से निकले और दूसरा हाथ को अच्छे से धुल कर ही उसे चहरे या मुंह के टच में आने दे।

हर जगह हाथ धुलना संभव नहीं तो इसलिए हैंड सेनिटाइजर का इस्तेमाल करें, लेकिन किस तरह का सेनिटाइजर हमारे हाथ को अच्छे से साफ करने में मदद कर सकता है, इससे सभी लोग परिचित नहीं है। बाजार में कई तरह के सेनिटाइजर उपलब्ध हैं, लेकिन कोरोना से बचाव के लिए हमें कौन सा सेनिटाइजर इस्तेमाल करना चाहिए आईये जानते हैं।

सीडीसी जब भी संभव हो साबुन और पानी से हाथ धोने की सलाह देता है क्योंकि हैंडवाश करने से हाथों पर सभी प्रकार के कीटाणुओं और रसायनों की मात्रा कम हो जाती है। लेकिन अगर साबुन और पानी उपलब्ध नहीं है, तो कम से कम 60% अल्कोहल के साथ वाला हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करके आप बीमार होने और दूसरों को रोगाणु फैलाने से बचा सकते हैं।

शराब आधारित हैंड सैनिटाइज़र कुछ स्थितियों में हाथों पर रोगाणुओं की संख्या को जल्दी से कम कर सकते हैं, लेकिन सैनिटाइज़र सभी प्रकार के कीटाणुओं को खत्म नहीं करते हैं।

क्योंकि क्रिप्टोस्पोरिडियम, नॉरोवायरस, और क्लोस्ट्रीडियम डिफिसाइल जैसे कुछ प्रकार के कीटाणुओं को हटाने में साबुन और पानी हैंड सैनिटाइज़र की तुलना में अधिक प्रभावी होते हैं। हालांकि शराब-आधारित हैंड सैनिटाइज़र को सही ढंग से उपयोग किए जाने पर कई प्रकार के रोगाणुओं को बहुत प्रभावी ढंग से निष्क्रिय कर सकता है।

यदि साबुन और पानी उपलब्ध नहीं है, तो अल्कोहल-आधारित हैंड सैनिटाइज़र का उपयोग करें जिसमें कम से कम 60% अल्कोहल हो। क्योंकि कई अध्ययन में पाया गया है कि 60-95% के बीच अल्कोहल एकाग्रता वाले सैनिटाइज़र कम अल्कोहल एकाग्रता या गैर-अल्कोहल-आधारित हैंड सैनिटाइज़र की तुलना में कीटाणुओं को मारने में अधिक प्रभावी होते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest News

बड़े दि‍लवाले नि‍कले बनारसी, ‘पुलिस पब्लिक अन्नपूर्णा बैंक’ में दिल खोलकर जमा की राहत सामग्री

वाराणसी। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन जारी है। जिसके बाद जिला प्रशासन...

लॉकडाउन में कारगर साबित हो रही मेडिसिन एट डोर योजना, दो दिन में 500 लोगों को मिला लाभ

वाराणसी। लॉकडाउन के अनुपालन के क्रम में कोई भी व्यक्ति बेवजह घर से बाहर ना आये और जो घर मे हैं उन्हें कैसे ज़रूरी...

युवाओं की टोली कर रही लॉक डाउन में भोजन का इंतज़ाम, पुलिस से लेकर पब्लिक तक सबको मिल रहा है दो वक्त का भोजन

वाराणसी। शहर में लॉकडाउन के बाद कई समाजसेवी संस्थाओं के साथ ही साथ जगह जगह यूवाओं की टोली भी पब्लिक और पुलिस में भोजन...

वाराणसी के कोरोना पॉजिटिव मरीज की पांच माह की बच्ची सहित परिवार के पांच सदस्‍यों का लिया गया सैंपल

वाराणसी। फूलपुर थाना क्षेत्र के गांव में 30 वर्षीय युवक के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद से पूरे शहर में हड़कंप फैल गया है।...

कोरोना अपडेट : तीन दि‍न तक वाराणसी में चलेगा विशेष सफाई अभियान, घरों में ही रहे जनता

वाराणसी। कोरोना वायरस के संक्रमण एवं उससे बचाव के लिए प्रदेश शासन द्वारा वाराणसी जनपद को लॉकडाउन कराने के बाद भी सोमवार को पंचकोशी...

More Articles Like This